Vitamin E in hindi

Vitamin E ke fayde, source aur nuksan in hindi - विटामिन ई के फाईदे, स्रोत और नुकसान हिंदी मे।

Vitamin E ke fayde, source aur nuksan in hindi - विटामिन ई के फाईदे, स्रोत और नुकसान हिंदी मे।
Vitamin E बहत एहम हे हामारे शरीर के लिए इसके कमी के कारण शरीर मे कुछ समस्या दिखाइ देता हे।

Vitamin E एक एसा vitamin हे जो आपके शरीर के सौन्दर्य वाड़ा देता हे। और इसके अलबा भी ये विटामिन बहुत सारा काम करती हे जो आपको जानना जरूरी हे। तो आइए आज हम vitamin E के बारे मे जान लेते हे।

शरीर मे RBC यानी Red Blood Cell गठन करना

Vitamin E शरीर मे लाल रक्त कोशिकाओ को गठन करने मे काम आता हे। इसके आलबा आगर pregnancy के दौरान Vitamin E लिया जाता हे तो बच्चे को एनीमिया रोगो से बचाया जा सकता हे।

मानसिक रोग और हृद रोग से मुक्ति दिलाने मे मदत

आगर आप एक मानसिक रोगी हे तो Vitamin E आपको इससे मुक्ति दिलाने मे मदत करेङ्गे। और इसके अलबा आपको vitamin E हार्ट अटैक होने से भी बचा सकता हे।

ultraviolet किरनो से वचाब

Vitamin E आपको सूर्य के ultraviolet रश्मि से बचाता हे। ये रश्मि आपके स्किन के लीये आच्छा नेही होता हे।

skin का सभी समस्या दूर करने मे मदत

आपके शरीर के skin से जुड़ि हुए हार समस्याऔ से छुटकारा दिलाने मे मे Vitamin E सबसे ज्यादा मदत करती हे। ये vitamin skin के किसिभी दाग को मिटाने मे माहिर हे।

बालो के problem को दूर हटाने के लिए

आगर आपका बाल दीन बो दीन घाट रहा हे तो आपको vitamin E इस्तेमाल करना जरूरी हे। इसके एलाबा बालो को सिल्की और मज़बूत बनाने मे भी Vitamin E काफी जरुरी हे।

आखो के नीचे डार्क सार्केल हाटाने के लिए

अगर आपकी आखो के नीचे काला डार्क सर्कल दिख रहा हे तो आप vitamin E का oil इस्तेमाल कीजिए। Vitamin E कुछ दीनो मे आपका ये समस्या मिटा देँगे।
Vitamin E ke fayde, source aur nuksan in hindi - विटामिन ई के फाईदे, स्रोत और नुकसान हिंदी मे।


Vitamin E का source

Vitamin E आप दोनों उपाय से ले सकते हे जैसा की

१. प्राकृतिक उपाय से 

 Vitamin E का एक अहम सोर्स हे प्रकृति। आप भी इस दिए गए प्राकृतिक उपादान से Vitamin E ले सकते हे।
1.बदाम 2.सूर्यमुखी 3.मूँगफली 4.बन्स्पती तेल 4.पालक 5.ब्रोकोली 6.टमाटर इत्यादि।

२.Vitamin E क्यापसुल से

आप vitamin E tablet से भी ले सकते हे। Vitamin E क्यापसुल maximum मेडिकल स्टोर मे आसानी से मिल जायेगी। लेकिन आपको ये लेने से पहले आप आपने नजदिकी doctor से सालाह ले लियिये। क्यूँ की इसका साइड अफेक्ट भी होता हे। क्या साइड affect होता हे और कितनी मात्रा मे लेना चाहिए बो हाम नीचे वाताया हे।इसलिए पोस्ट को ध्यान से अंत तक पड़िये।
Vitamin E ke fayde, source aur nuksan in hindi - विटामिन ई के फाईदे, स्रोत और नुकसान हिंदी मे।

Vitamin E कितनी मात्रा मे लेना चाहिए


  • बिलकुल नबजात बाच्चे को 4 मिलिग्राम प्रतिदिन।
  • 1-3 बर्षो उम्र के बच्चे को 6 मिलिग्राम प्रतिदिन।
  • 9-13 बष्र उम्र तक 11 मिलिग्राम प्रतिदिन।
  • 14 या 14 से ज्यादा उम्र वाला के  लिये 15 मिलिग्राम प्रतिदिन।
  • स्तन्यपान करा रहे महिलाओं के लिए 19 मिलिग्राम तक प्रतिदिन लेना चाहिये।

Vitamin E ज्यादा लेने से क्या होगा

आगर आप Vitamin E लिमिट से ज्यादा लेते हो तो ये आपके शरीर मे जमा होकर धीरे धीरे बिषाक्त होने लागते हे। इसलिए इसका कुछ side affect आपको भुगतना पड़ सकता हे जैसा की cancer, रक्तस्राब, थकान, रक्त पातला होना इत्यादि समस्याएं दिखाइ देता हे। इसलिए Vitamin E जरूरत से ज्यादा नेही लेना चाहिए।

Comments