Jhut pakadne ka tarika ~ झुटे बात कैसे पकड़ै

कैसे आप पाता लगाएंगे सामने बाला ब्याक्ति आपको झुट बोल रहा हे।

Jhut pakadne ka tarika ~ झुटे बात कैसे पकड़ै
अगर आप झुटे बात पकड़ना चाहते हौ तो सामने बाले ब्याक्ति के Body Language पर ध्यान दीजिए।

अक्सर एसा होता हे आप जिससे प्यार करते हौ बो आपसे कुछ बात छुपाने के लिए झुट बोल रही हे। इससे आप परेशान हौ चुके हौ। और आप उनका झुट पकड़ नेही पा रहे हौ। या फिर आपको अपने साथी पर कुछ संदेह हे जिसे आप पाता लगा नेही पा रहे हौ। आपको लाग रहा होगा आपके साथी आपको झुप बोल रही हे और आप उनके कहा गया बात सही या ग़लत ये फ़ैसला कर नेही पा रहे हौ तो आप इस आर्टिकल को ध्यान से पड़ीए।
इस दुनिया मे बोहत सारे एसा लॉग हे जो बिलकुल सीधे साधे इनसान हे। और इसलिए उसे कोई भी झुट बोलकर धोका देते हे। और बो आसानी से इस झुट के जाल फास जाते हे। इसलिए उसको खुद पर बोहत दुख होता हे क्यूँ की उसे लगता हे की बो किसिको समझ नेही पाते हे। अगर आप इनमें से एक हे जो सीधा साधा हे, किसिके किसिभी बात पर भोरोसा कर लेते हे और झुट बिलकुल पसंद नेही करते हे। और इसी सीधे साधेपन का फायदा लेकर कोई भी आदमी आपको धोका दे देते हे। तो इस आर्टिकल आपके लिए हे जो झुट को पकड़ना चाहते हे। तो चलिए जान लेते हे झुटे बात को कैसे पकड़ै।

बॉडी language के सहारे

जो झुट बोलता हे बो अपने body language ज्यादा अपने बात पर ध्यान देते हे। क्यूँ की बो दिमाग के सारे ज़ोर अपने बात को सही साबित करने मे लगा देते हे। इसलिए झुट बोलते समय उस ब्यक्ती के शरीर मे ज्यादा movement दिखाइ नेही देती।

आंखो के घूमने का दिशा देखकर

हमारे मस्तिस्क के दो पार्ट होता हे। एक हे लेफ्ट पार्ट और दूसरा राइट पार्ट। मस्तिस्क के लेफ्ट साइड मे आपका पुराने स्मृती रेहती हे जैसे की काल अपने क्या खाया था, कहा गया था, किसके साथ मिला था। और मस्तिस्क के राइट साइड मे से कुछ नया करने की सोच आती हे, कुछ creative करने का सोच या फिर जो आज तक किसिने नेही किया उसे करने का सोच मस्तिस्क के राइट साइड से आता हे। इसलिए जब कोई ब्यक्ती झुट बोल रहा हे बार बार। तो उसका आंख हमेशा राइट साइड की और घुमेगा। क्यूँ की जब कोई घटना नेही घटती और उसे imagine किया जाता हे तो बो काम दिमाग के राइट बाले हितसे करते हे। और जो बात सच बोलती हे उसका आंखे लेफ्ट साइड की तरफ़ घूम जाति हे। क्यूँ की बो घटना घट चुके हे और बो दिमाग के लेफ्ट साइड मे स्टोर हौ चुके हे। और उसे याद करने का काम दिमाग के लेफ्ट साइड का हे। इसलिए आंखे भी लेफ्ट साइड घूम जाति हे।

आवाज को सून कर

अगर किसी ब्याक्ती ने किसी बात को लेकर ज़ोर आबाज मे बात कर रही हे। या फिर अपने किसिको एक साबाल पुछा और उस ब्याक्ती ने आपके साबाल जबाब उची आबाज मे या गुत्सा हौ कर दे रहे हे। हौ सकते हे बो आदमी आपसे झुट बोल रही हे। क्यूँ की झुट बोलने बाला ब्याक्ती अपने बात को सही ठेहराने मे अपना पूरा ज़ोर डाल देते हे।

तजरे चुरा लेना या फिर मुह फिर लेना देखकर

अगर आपको किसि ब्यक्ती के बात पर एकिन नेही हौ रहा हे तो आप उस ब्यक्ती पर अंखो मे आंख डल कर बात कीजिए। जब बो कुछ बोलते बक्त अपना मुह छुपाने की कौसिस करते हे या अपना नजरे चुराने लगते हे तो हौ सकते हे उस ब्यक्ती ने आपको झुट बोल रही हे।

एक्स्प्रेशन पर ध्यान दीजिए

अगर किसिसे बोहत देर से बात करते हौ। तो आप उनके हाब, भाब, भंगीमाओ के उपर बिशेष ध्यान दीजिए। क्यूँ की जब भी कोई ब्यक्ती झुट बोलते हे तो बो अपने बात को सही साबित करने के लिए जबरन अपने शरीर का एक्स्प्रेशन देने की कौसिस करते हे। और आप इन एक्स्प्रेशन से समझ सकते हे आपके सामने बाला इनसान कितना सच और कितना झुट बोल रही हे।

Also Read - दोपेहर मे नींद लेने के फायदे।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तो के साथ शेयर कीजिए। और मन मे जो भी हे कमेंट बॉक्स मे बाताना मत भुलिए।

Comments

Popular posts from this blog

Heart ko kaise swasth rakhe - दिल को कैसे सुरक्षित रखे

Jogging aur Running ke fayde in hindi | जोगिंग और रानिंग

Watermelon in hindi - तरबूज के फायदे