Increase stroke risk in winter session - ठण्ड के मौसम मे स्ट्रोक के खातरे क्यू बढ़ जाता हे

ठण्ड के मौसम मे सतर्क रहिए। क्यूँ की इन मौसम मे बढ़ जाता हे स्ट्रोक के खातरा।

Increase stroke risk in winter session - ठण्ड के मौसम मे स्ट्रोक के खातरे क्यू बढ़ जाता हे
सर्दिओ के मौसम मे स्ट्रोक होने की खातरा 30 फिसदी तक बढ़ जाता हे।

स्ट्रोक एक भयंकर बीमारी है ये बात लगभग सभी ने जानते होंगे। ये बीमारी ने हर साल करोड़ों लोगो की जान ले लेते है। अगर किसीको स्ट्रोक हुआ तो उसे जल्द से जल्द इलाज मुहाबजा करबाना जरूरी है। 24 घंटे के अंदर अगर किसी स्ट्रोक के मरीजों को इलाज दिया जाए तो इसका प्रभाव 70 फीसदी तक कम किया जा सकते है।

कुछ जांचो में पाया गया सर्दियों के मौसम में स्ट्रोक होने की खतरा 30 फीसदी तक बढ़ जाता हे। सर्दियों के मौसम में हवा प्रदूषित हो जाती हे, साथ ही साथ इंफेक्शन कि दर में वृद्धि, ब्याम की कमी और हाई ब्लड प्रेशर की बजेह से भी स्ट्रोक होने की खतरा बड़ जाती है।

हार्ट स्ट्रोक और ब्रेन स्ट्रोक होने की सबसे बड़ी कारण हे गलत लाइफस्टाइल। हर 10 में से 6 बा व्याक्ति का स्ट्रोक गलत लाइफस्टाइल के वजेह से होती है। और इस गलत लाइफस्टाइल का सबसे बुरी असर सर्दियों के महीनों में दिखाई देती है। ऐसे में अपको ये बात जान लेना चाहिए सर्दियों के मौसम में स्ट्रोक का खतरा क्यू बढ़ जाती है और इससे बचने के लिए हम क्या कर सकते है।

किस किस को स्ट्रोक हो सकती है

वैसे तो देखा गया स्ट्रोक होने की ना कोई उम्र हे ना कोई लिंग हे। स्ट्रोक किसीको काभिभी ही सकती है। अपको ये बात का पाता होना चाहिए 12 फीसदी स्ट्रोक के मरीजों की उम्र 40 साल कम है। अगर आप महिला है तो ये भी जान लीजिए गर्भनिरोधक दबाई लेने से भी आप स्ट्रोक के चपेट में पड़ सकते हो।

सर्दियों में स्ट्रोक क्यू ज्यादा होती है।

सर्दियों के मौसम में स्ट्रोक होने की खतरा बहत सारे कारणों की वजह से बढ़ जाती हे। जैसा कि सर्दियों के मौसम में हवा काफी हद तक प्रदूषित हो जाता है जिससे हृदय और छाती के स्थिति खराब हो सकती है। साथ ही साथ लोग इस मौसम में एक्सरसाइज कम करती है, ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है, खून गाड़ा हो जाता है, इंफेक्शन बड़ जाता है। इसलिए इस मौसम में स्ट्रोक के बीमारियों की संख्या में बढ़ोत्रि हो जाता है।

स्ट्रोक होने की लक्ष्मण

स्ट्रोक हुआ कि नहीं हुआ आप इन लक्षणों से पाता लगा सकते है।
स्ट्रोक होने की कुछ बड़ी लक्ष्मण हे अचानक से शरीर के किसी हित्से कमजोर हो जाना, मुंह में दर्द होना, कुछ बोलने में दिक्कत होना, एक तरफ के हाथ और पैरों का ना हिला पाना, कम सुनाई देना, धुंधला दिखाई देना, चलने में परेशानी होना, चक्कर आना इत्यादि।

स्ट्रोक से कैसे बचे

सर्दियों के मौसम मे लोग पानी कम पीते हे जिसके कारण खून गाड़ा हो जाता है। जिससे स्ट्रोक की खतरा बढ़ जाता है। इसलिए पानी भरपूर मात्रा में पिए। धूम्रपान और शराब से जितना हो सके दूर रहिए। और हमेशा शरीर में ज्यादा ठंड मत लगवाइए।
Increase stroke risk in winter session - ठण्ड के मौसम मे स्ट्रोक के खातरे क्यू बढ़ जाता हे

अगर आपको लगता है किसी आदमी का स्ट्रोक हुआ है तो उसे तुरंत किसी नजदीकी अच्छे Hospital में ले जाइए।


Also Read - बदलते हुए मौसम मे बच्चो को सुरक्षित कैसे रखे।


अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लागा तो इसे अपने दोस्तो और रिस्तेदारो के साथ शेयर जरुर कीजिए। और मन मे जो भी हे कमेंट बॉक्स मे जरुर बता दीजिए।

Comments

Popular posts from this blog

Heart ko kaise swasth rakhe - दिल को कैसे सुरक्षित रखे

Jogging aur Running ke fayde in hindi | जोगिंग और रानिंग

Watermelon in hindi - तरबूज के फायदे